eBook Hindi

भारत भूमि में जितने आचार्य उपाध्याय और साधु परमेष्ठी हुए हैं उनकी महान अनुकंपा है जो यह महान स्तोत्र हमें इतने वर्षों बाद भी प्रभु की निर्मल भक्ति करने के लिए उपलब्ध है इस कृति के माध्यम से तीर्थंकर प्रभु आदिनाथ स्वामी से हमारी प्रार्थना भावना और प्रयास है कि विश्व शांति के लिए भक्तामर स्तोत्र के 48 श्लोक रिद्धि एवं मंत्र जन-जन तक पहुंचे  कण-कण में पहुंचे हर धड़कन के तार में संगीत के सात स्वर बनकर बह विश्व वसुंधरा पर जहां जहां जीवन है सबके कल्याण और सुख शांति समृद्धि के लिए भक्तामर स्तोत्र सर्वोत्तम औषधि बने क्योंकि संसार में श्रेष्ठतम शब्दों का सर्वश्रेष्ठ चिंतन और संकलन सिर्फ और सिर्फ भक्तामर ही है | इसलिए आपके समक्ष प्रस्तुत है भक्तामर की बुक जिसमें आप पा सकते हैं  भक्तामर स्तोत्र के बारे में समस्त जानकारियां आध्यात्मिक उपचार यंत्र स्थापना, मंत्र विधि,एवं भक्तामर स्त्रोत से जुड़ी हुई समस्त जानकारी जिससे आपके सभी सवालों का सहज , सुगम और सरल भाषा में समाधान देने का प्रयास किया है । आध्यात्मिक उपचार ,मंत्र विज्ञान ,भगवान आदिनाथ का  जीवन परिचय मानतुगं  और भक्तामर परिचय, जाप विधि ,कब ,कैसे और क्यों जाप करना है और उन सभी छोटी बड़ी जानकारियों का संकलन हमने इस पुस्तक में किया है जिनसे जीवन में आर्थिक मानसिक ,शारीरिक और भावनात्मक समस्याओं से छुटकारा कैसे पाया  जाए, वास्तु की विशेष जानकारियां, ज्योतिष की विशेष जानकारियां सभी का संकलन इस पुस्तक में बड़ी सहजता से किया गया है। आप स्वयं डाउनलोड करें और अपने दोस्तों मित्रों रिश्तेदारों को शेयर करना ना भूलें।

 12,145 total views,  4 views today

Just fill out this quick form

Select Service
X
BOOK A SERVICE