Uncategorized

Contact us

Uncategorized (23)

भक्तामर स्तोत्र से दूर होता है जीवन में आया संकट

बागपत : नगर के दिगम्बर जैन बड़ा मंदिर में आयोजित भक्तामर विधान के दूसरे दिन भक्तामर स्तोत्र का पाठ किया गया और भगवान को अ‌र्घ्य समर्पित..

Continue Reading

भक्तामर स्तोत्र हिन्दी में

आदिपुरुष आदीश जिन, आदि सुविधि करतार। धरम-धुरंधर परमगुरु, नमों आदि अवतार॥ सुर-नत-मुकुट रतन-छवि करैं, अंतर पाप-तिमिर सब हरैं। जिनपद बंदों मन वच काय, भव-जल-पतित उधरन-सहाय॥1॥ श्रुत-पारग..

Continue Reading

BhaktAmara stotra

bhaktAmara-praNata-maulimaNi-prabhANA - mudyotakaM dalita-pApa-tamovitAnam | samyak praNamya jina pAdayugaM yugAdA- vAlaMbanaM bhavajale patatAM janAnAm|| 1|| yaH saMstutaH sakala-vA~Nmaya- tatva-bodhA- d-udbhUta- buddhipaTubhiH suralokanAthaiH| stotrairjagattritaya chitta-harairudaraiH stoShye kilAhamapi..

Continue Reading

भक्तामर स्तोत्र (हिन्दी में)

आदिपुरुष आदीश जिन, आदि सुविधि करतार। धरम-धुरंधर परमगुरु, नमों आदि अवतार॥ सुर-नत-मुकुट रतन-छवि करैं, अंतर पाप-तिमिर सब हरैं। जिनपद बंदों मन वच काय, भव-जल-पतित उधरन-सहाय॥1॥ श्रुत-पारग..

Continue Reading
Just fill out this quick form

Select Service
X
BOOK A SERVICE